Latest News

बालों का ऐसे रखें ख्याल, टिप्स को करें फॉलो

हले गंजेपन की समस्या उम्रदराज़ लोगों में देखी जाती थी लेकिन अब यह किशोरों में भी देखने को मिल रही है। $गलत लाइफस्टाइल के कारण भी बाल झडऩे लगते हैं। बाल कम होने पर व्यक्ति अपनी उम्र से अधिक लगने लगता है। अकसर हम समझते हैं कि अधिक तनाव के कारण बालों पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है पर ऐसा बिलकुल नहीं। सिर्फ तनाव ही एक कारण नहीं है। इसके लिए आहार में पोषण की कमी, एंटी-डिप्रेज़ेंट व स्टेरॉयड्स, हॉर्मोनल असंतुलन, आनुवांशिक कारण, विटमिन बी की कमी, प्रोटीन की कमी, केमिकल ट्रीटमेंट व तरह-तरह के उत्पादों का इस्तेमाल आदि चीज़ें भी पैची हेयर लॉस के लिए जि़म्मेदार हैं। पर्प सलॉन, नोएडा के हेयर एक्सपर्ट निक्की शमीम से जानें कुछ टिप्स।

एक उम्र के बाद बालों का झडऩा आम बात है लेकिन अगर बालों के गुच्छे बनकर गिर रहे हैं या गंजापन दिखने लगे तो यह चिंता का विषय है। आजकल पुरुषों में पैची हेयर लॉस की समस्या अधिक बढ़ रही है। क्या है इनकी मुख्य वजह और कैसे निकालें इसका समाधान जानें सखी से।

गीले बालों की सही देखभाल : ध्यान रखें कि बाल आपके शरीर की तरह मज़बूत नहीं हैं इसलिए इनकी देखभाल अच्छी तरह करनी चाहिए। खासकर जब ये गीले हों। टॉवल से इसे ज़ोर से न रगड़ें, वर्ना ये ज्य़ादा टूटने लगेंगे, साथ ही जो नई ग्रोथ आएगी, उस पर इसका बुरा असर पड़ेगा।

करें सही कॉम्ब का इस्तेमाल : गीले बाल हों या ड्राई, उनकी कॉम्बिंग करने के लिए हार्ड ब्रिसल्स वाले कॉम्ब का इस्तेमाल न करें। हार्ड ब्रिसल्स ब्रश से नई ग्रोथ को भी नुकसान पहुंचता है। इसके अलावा यह सिर की त्वचा को भी हानि पहुंचाता है। गीले बालों को सुखाने के लिए उन्हें अपनी उंगलियों से सुलझाने का प्रयास करें, बाद में उन्हें सॉफ्ट ब्रिसल्स कॉम्ब से कंघी करें।

हेयर कट करवाएं : जब लगे कि गंजेपन की शुरुआत होने लगी है तो तुरंत ही आर्मी कट करवा लें। छोटे बालों को गीले होने के बाद सूखने में बिलकुल देर नहीं लगती। बालों को छोटा रखने से बिना वह किसी नुकसान के स्टाइलिश दिखेंगे।

स्टाइलिंग उत्पादों से बचें : अगर बाल कमज़ोर हैं तो स्ट्रेटनिंग न करें। जेल, हेयर सीरम और हेयर कलर प्रोडक्ट्स में केमिकल्स होते हैं, जो बालों को तुरंत न खराब करके धीरे-धीरे अपना असर दिखाते हैं। ऐसे केमिकलयुक्त प्रोडक्ट्स बालों की ग्रोथ मे भी बाधा पहुंचाते हैं।

हेयरफॉल का कारण

बालों को धूल-मिटटी से बचाकर रखें वर्ना ये जल्दी झडऩे लगेंगे।

हार्ड केमिकल युक्त शैंपू, डाई के अधिक प्रयोग के कारण बालों में रूसी होने के साथ-साथ बालों की जड़ कमज़ोर हो सकती है और यह हेयर फॉल का कारण भी बन सकती है।

बालों की कंडिशनिंग के लिए या बालों को नया लुक देने के लिए लोग अकसर जेल, हेयर स्प्रे का प्रयोग करते हैं, जो केमिकल युक्त होते है, ऐसे उत्पाद बालों को नुकसान पहुंचाते हैं।

बालों के झडऩे के पीछे आनुवंशिक कारण भी हो सकता है। किसी विशेष जीन या क्रोमोसोम के कारण भी एक परिवार के लोगों में बालों का झडऩा क्रमिक रूप से पाया जाता है।

बार-बार कंघी करने की वजह से भी बाल अधिक टूटते हैं। इसलिए दिन में 2-3 बार से ज्य़ादा कंघी न करें।

हले गंजेपन की समस्या उम्रदराज़ लोगों में देखी जाती थी लेकिन अब यह किशोरों में भी देखने को मिल रही है। $गलत लाइफस्टाइल के कारण भी बाल झडऩे लगते हैं। बाल कम होने पर व्यक्ति अपनी उम्र से अधिक लगने लगता है। अकसर हम समझते हैं कि अधिक तनाव के कारण बालों पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है पर ऐसा बिलकुल नहीं। सिर्फ तनाव ही एक कारण नहीं है। इसके लिए आहार में पोषण की कमी, एंटी-डिप्रेज़ेंट व स्टेरॉयड्स, हॉर्मोनल असंतुलन, आनुवांशिक कारण, विटमिन बी की कमी, प्रोटीन की कमी, केमिकल ट्रीटमेंट व तरह-तरह के उत्पादों का इस्तेमाल आदि चीज़ें भी…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

uttarakhand live

12वीं के नतीजे घोषित,जानिए रिजल्‍ट

उत्तराखंड में गायत्री विद्यापीठ शांतिकुंज हरिद्वार की तनुजा कापडी ने टाप किया। आर्मी पब्लिक स्कूल ...